Tuesday, November 26, 2013

ईमानदार नहीं हैं केजरीवाल - मनोज तिवारी

पुछा आयकर अधिकारी रहते कितनो के खिलाफ की कारवाई
भोजपुरी फिल्मो के मेगा स्टार व लोकगायक मनोज तिवारी ने आम आदमी पार्टी के नेता अरविन्द केजरीवाल को ईमानदार नेता मानने से इंकार कर दिया है और कहा है की वो ईमानदारी का ढोंग कर दिल्ली कि जनता को बेवकूफ बना रहे हैं। दिल्ली विधान सभा के बादली विधान सभा से भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार विजय भगत कि चुनावी सभा को सम्बोधित करने जहांगीर पूरी पहुचे मनोज तिवारी ने विजय भगत की तारीफ़ करते हुए कहा कि दिल्ली के ये इकलौते उम्मीदवार हैं जिन्हे समाज सेवा के लिए दो दो बार राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। दिल्ली की राजनीति पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि पूरी दिल्ली एक ओर जहां कोंग्रेस सरकार कि भ्रष्ट निति और महंगाई से त्रस्त है तो वहीँ ईमानदारी का ढोंग करने वाले केजरीवाल जनता को बेवकूफ बना कर अप्रत्यक्ष रूप से कोंग्रेस को मजबूत कर रहे हैं। उन्होंने केजरीवाल को चुनौती देते हुए कहा कि पहले वो इस बात का खुलासा करे कि पंद्रह साल तक आयकर विभाग में काम करते हुए उन्होंने कितने उद्धोगपति और अधिकारियों के खिलाफ कारवाई कि और आयकर चोरी का पर्दाफाश किया। उन्होंने आगे कहा कि वो खुद अन्ना हजारे के आंदोलन में उनके साथ मंच पर थे लेकिन अरविन्द केजरीवाल ने अपने फायदे के लिए आंदोलन में शामिल लोगो को गुमराह किया। केजरीवाल ने इंडिया अगेन्स्ट करप्शन का गठन किया लेकिन जब चन्दा वसूलने की बारी आयी तो उन्होंने चंदे कि रकम के लिए अपने एन जी ओ को चुना ताकि आयकर चोरी कर सके। भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने की बात पर उन्होंने कहा कि उन्होंने अपने दिल कि आवाज़ सुनी जिसमे नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी का नाम था। नरेंद्र मोदी का ओजस्वी व्यक्तित्व और गुजरात का विकास ने भी उन्हें काफी प्रभावित किया। udaybhagat@gmail.com