Monday, July 20, 2015

संबरंग समारोह 2015: भोजपुरी पंचायत के तृतीय वार्षिकोत्सव



भोजपुरी पंचायत का तृतीय वार्षिक  समारोह - ‘संबरंग समारोह 2015‘ का आयोजन 29 अगस्त को मुंबई के विलेपार्ले स्थित ‘नवीनभाई ठक्कर सभागार’ में होने जा रहा है। इस बार के संबरंग समारोह कुछ खास ही साबित होगा। जिसमें ‘1960-1990‘ के बीच की फिल्मों एवं वर्तमान दौर की फिल्मों की तुलनात्मक चर्चा किया जाएगा एवं पुराने भोजपुरी फिल्मों के गाने पर, आज के फिल्मी कलाकार थिरके हुए नजर आऐगें। कोई हेलन जी के गाने ‘पान खाले सइया हमार हो’, तो कोई ‘गंगा मइया तोहे पियरी चढ्इयों’ के गाने पर। साथ ही इस बात पर भी जोर दिया जाएगा कि पदमश्री शारदा सिन्हा जी के बाद किसी और गायक या गायिका को भारत सरकार से सम्मान क्यों नहीं मिला।
इस समारोह में ‘फिल्म विशेष ’ पर विशेष  जोर दिया जा रहा है, जिसमें फिल्मी कलाकारों द्वारा संस्कृति कार्यक्रम पेश किया जाएगा। साथ ही फिल्म अवार्ड का भी आयोजन होना सुनिचिश्त  है। 2005 से 2014 के दशक  में उत्कृष्ट योगदान के लिए फिल्मी कलाकारों सहित सामाजिक, राजनीतिक हस्तियों को सम्मातिन किया जाएगा, जो आने वाले पीढ़ी के प्रेरणा स्त्रोत के रूप में जाने जाते है। साथ ही इस बात पर भी विचार किया जाएगा कि भोजपुरी सिनेमा अपने 53 साल पुरे किये, इन 53 सालों में एक मात्र भोजपुरी फिल्म ‘कब होई गवना हमार’ ने नेशनल  अवार्ड के मापदण्ड पर खरा उतर पाया और 2007 में इस फिल्म को तत्कालिक राष्ट्रपति श्रीमति प्रतिभा पाटिल जी ने नेशनल  अवार्ड से नवाजा। 2007 के बाद लगभग 8 गुजर गये, पर कोई और भोजपुरी फिल्म ने ‘नेशनल  अवार्ड’ के मापदण्ड पर खरा क्यो नहीं उतरा ? आदि विषयों पर भी चर्चा किया जाएगा एवं भोजपुरी फिल्मों में सुधार के लिए फिल्म निर्माता को प्रोत्साहित किया जाएगा।
    भोजपुरी पंचायत पत्रिका भोजपुरी भाषा-साहित्य के उत्थान के लिए संकल्पित है और भोजपुरी भाशियों की आवाज को बुलंद करते आ रही है। भोजपुरी पंचायत बिहार-झारखंड, पूर्वी उत्तर प्रदेष एवं भोजपुरी भाशियों पर केन्द्रित एक मात्र पत्रिका है। इस समारोह का मुख्य उद्देश्य भोजपुरी लोकसंगीत सहित फिल्मों के प्रचार-प्रसार एवं भोजपुरी भाशा के विकास को बढ़ावा देना। बहुत ही कम समय  में ही सफलता के झंडे गाड़ने वाली पत्रिका ‘भोजपुरी पंचायत’ का अनवरत तीने साल पूरा हो गया है। पत्रिका को पाठकों ने बहुत पसंद किया है एवं उनका पूरा सहयोग एवं सत्कार मिलता रहा है। भोजपुरी पंचायत सफलतापूर्वक तीन साल कर चुका है। इस कार्यक्रम में राजनीतिक, सामाजिक एंव सांस्कृतिक क्षेत्र में विशेष योगदान देने वाले सपुतों को सम्मानित किया जाएगा। udaybhagat@gmail.com