Monday, October 14, 2013

संकट के दौर से गुजर रहा है भोजपुरी फिल्म जगत - सुजीत तिवारी

भोजपुरी फिल्मो के संकट मोचन के नाम से प्रसिद्द व फिल्म निर्माण व फाइनेंस से जुडी सी पी आई मूवीज के प्रमुख सुजीत तिवारी भोजपुरी फिल्मो की गिरती हालत से चिंतित हैं और उनका मानना है की इसके लिए जिम्मेवार भी इसी फिल्म जगत के लोग हैं। अपनी बहुचर्चित फिल्म तिरंगा के लिए बिहार में लोकेशन की तलाश में पटना आये सुजीत तिवारी ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा की भोजपुरी फिल्म उद्धोग एक विशाल वट वृक्ष बन चुका है , पर यह वृक्ष खोखला हो चूका है। क्योंकि दर्शको का प्यार इस फिल्म जगत को मिलना कम हो गया है। उन्होंने बदहाली के दौर से गुजर रही भोजपुरी फिल्म इंडसट्रीज़ को संकट से उबारने के लिए एक अनोखी पहल भोजपुरी फिल्मो के निर्माताओं से की है . उन्होंने निर्माताओं से अपील की है की अगर दर्शको को तादात बढानी है तो उन्हें सी फेक्टर पर काम करना होगा . सी फेक्टर के बारे में उन्होंने बताया की भोजपुरी फिल्मे ना चलने का कारण है सी फेक्टर का अभाव . उन्होंने बताया की फिल्मो में चार सी फेक्टर होती है कास्टिंग, कौसट्यूम, कोंनसेप्ट और कैमरा . भोजपुरी के फिल्म मेकर आज ना तो किरदार के अनुसार कास्टिंग कर पाते हैं, ना उनकी कौसट्यूम पर ध्यान देते हैं . घिसी पिटी कहानी और किसी भी कैमरे पर फिल्म शूट कर लेते हैं . इसी का परिणाम है की आज दर्शको का प्यार भोजपुरी को नहीं मिल रहा है . उन्होंने फिल्म निर्माताओं से आगाह किया है की अगर इस फेक्टर को अपनी फिल्म में शामिल करेंगे तो निः संदेह एक बार फिर से भोजपुरी का सुनहरा दौर शुरू हो जायेगा . उल्लेखनीय है की सी पी आई मूवीज के बैनर तले सुजीत तिवारी ने कई फिल्मे प्रस्तुत की है . उनकी आने वाली फिल्मो में दूध का कर्ज, कच्चे धागे, चरणों की सौगंध , गुलाम , जानी दुश्मन, प्रतिज्ञा २ व मराठी फिल्म मध्यमवर्ग आदि शामिल हैं . उल्लेखनीय है की सुजीत तिवारी बिहार के पहले अभिनेता स्वर्गीय रामायण तिवारी के पोते एवं अभिनेता स्वर्गीय भूषण तिवारी के पुत्र हैं। मूलतटना जिले के मनेर निवासी सुजीत तिवारी की मुंबई में पहचान एक सफल व्यवसायी की है। मात्र दो साल पहले उन्होंने भोजपुरी फिल्म जगत में बतौर फ़ाइनेन्सर कदम रखा क्योंकि उनका मकसद वैसी फिल्मो को सिनेमा घरो तक पहुचाना था जो फंड के अभाव में सिनेमा घरो तक पहुच नहीं पा रही थी। उनके इस कदम से कई बड़ी फिल्मो को भी फायदा पहुचा। अपनी अगली फिल्म तिरंगा के लिए उन्होंने बिहार के कलाकारों के साथ बिहार में ही शूटिंग करने का फैसला किया है। इस हेतु फिल्म के निर्देशक फ़िरोज़ खान, लेखक संतोष मिश्रा, एक्शन निर्देशक अंदलीब पठान , सी पी आई मूवीज के इन्द्रजीत शर्मा, अनंजय रघुराज व उदय भगत भी साथ हैं। लोकेशन व कलाकारों के चयन के बाद फिल्म की शूटिंग शुरू होगी। udaybhagat@gmail.com