Thursday, January 22, 2015

रहस्यमय प्रेम-कहानी है ‘‘पराया प्यार’’


एल.एच.के. एडवर्टाइजिंग एण्ड फिल्म्स के बैनर तले बनी हिन्दी फिल्म ‘‘पराया प्यार’’ एक त्रिकोणात्मक प्रेम-कहानी है जो रहस्य-रोमांच के साथ आगे बढ़ती है। पिछली सदी के आठवें दशक की एक रुमानी दास्तान है यह फिल्म। फिल्म की कहानी एक अनिवासी भारतीय (एन.आर.आई.) से शुरु होती है, जो लंदन से अपनी मंगेतर के साथ भारत वापस आता है। यहां उसके पिता हैं, उसकी दादी है। एक डांस कार्यक्रम देखने के बाद वह घर लौटता है, तब तक आंधी-तूफान आ जाता है। उसकी दादी की गाड़ी खराब हो जाती है, सो वह रास्ते में ही फंसी रहती है। इधर लंदन से आयी लड़की खिड़की दरवाजे बंद करने के क्रम में एक पुस्तक उठाती है कि उसमें से एक फोटो गिर पड़ती है। लड़की उस फोटो को वापस उस उपन्यास में रखने के लिए उठाती है। लेकिन, उस तस्वीर को देखते ही वह चैंक जाती है। वह तो उसकी मां की तस्वीर है?! पर, उसकी मां तो कभी यहां थी ही नहीं! फिर.... ये तस्वीर....क्या है रहस्य.... कैसा है रोमांच। इसका उत्तर लेखक-निर्देशक एल.एच. खान की फिल्म ‘‘पराया प्यार’’ है। फिल्म के निर्मातागण हैं-एल.एच. खान, एम. बिलाल और एम. नईम। सह-निर्माता एम.एस. हिब्बावाली व लाईन प्रोड्यूसर डाॅ. तस्नीम अहमद तथा दुर्गा प्रसाद शर्मा हैं। ताहिरा मेंहदी, एल.एच. खान एवं एम. नईम के गीत हैं, संगीत कमाल मखदूम और किशोर मल्होत्रा का है। सम्पादन कोमल वर्मा का, नृत्य निर्देशन-कमलनाथ और छायांकन हुसैन शेख,  सलीम व रियाज शेख का। मुख्य कलाकार हैं-नवोदित सनी खान, शालिनी श्रीवास्तव, सृष्टि कार्णिक, अयूब खान, फरहीन, बिन्दु, वीणा, सुषमा सेठ, किशोर भानुशाली और किरण कुमार। यह फिल्म शीघ्र ही सर्वत्र प्रदर्शित होनेवाली है।