Saturday, August 16, 2014

नारी अत्याचार की व्यथा - औरत खिलौना नहीं

भोजपुरी फिल्म जगत में कुछ गिने चुने फिल्मकार ही है जिनकी फिल्मे सामजिक सरोकारों के इर्द गिर्द घूमती है , असलम शेख भी उन्ही फिल्मकारों में से एक हैं जिन्होंने अपनी अगली औरत  खिलौना नहीं में नारी अत्याचारों की व्यथा दर्शायी है।   शंकर रोहिरा  , एस आर फिल्म्स प्रजेंट्स व आर ए आई एस फिल्म्स की इस फिल्म के निर्माता हैं अविनाश रोहिरा व मोहम्मद असलम जबकि निर्देशक असलम शेख ने खुद अपनी ही कथा और पटकथा पर इस फिल्म को निर्देशित किया है। फिल्म में भोजपुरी  फिल्मो के मेगा स्टार मनोज तिवारी मृदुल , रिंकू घोष , मोनालिसा , शैलेश सिन्हा , मोहिनी घोष , अयाज़ खान , प्रकाश जैस , रितु पांडे और अवधेश मिश्रा मुख्य भूमिका में हैं जबकि संगीता तिवारी, श्वीटी छाबरा , सूर्या और आइटम क्वीन संभावना सेठ भी इस  फिल्म में अतिथि लेकिन अहम किरदार में हैं। यही नहीं इस फिल्म से भोजपुरी फिल्म जगत को इम्तियाज़ असलम के रूप में एक दमदार अभिनेता मिलने जा रहा है।  इस फिल्म से इम्तियाज़ की भोजपुरी फिल्म जगत में एंट्री हो रही है। फिल्म के अन्य प्रमुख कलाकारों में आलोक यादव , के उल्हास , विजय सिंह , पंकज तिवारी, विकास सिंह, शिवजी सिंह, रवि शंकर रवि, रमेश सिंह, डॉ अर्चना सिंह , अर्जुन सिंह , सुबन्ती  बनर्जी और संतोष पंजियार शामिल हैं।  फिल्म के संगीतकार हैं धनंजय मिश्रा जबकि गीतकार हैं प्यारेलाल कवि जी , संतोष पूरी व शम्भुराव भारद्वाज।  निर्देशक असलम शेख के अनुसार , फिल्म समाज का आयना होता है इसिलए सार्थक फिल्मो का अच्छा असर समाज पर पड़ता है।  निर्माता अविनाश रोहिड़ा के साथ इसके पूर्व संसार जैसी सामाजिक फिल्म बना चुके असलम शेख ने बताया की फिल्म  उन बुराइयों को उठाया गया है जिससे आम इंसान रोज़ रूबरू होता है इसका समाधान चाहता है।  निर्माता अविनाश रोहिरा के अनुसार ,  फिल्म अंतिम  चरण में है और जल्द ही दर्शको के समक्ष होगी।      udaybhagat@gmail.com