Tuesday, March 12, 2013

Foohad Sanima - A boldest Cinema ?

बोल्ड से भी बोल्ड - फूहड़ सनीमा कला, कलाकार, साहित्य . सिनेमा , ये सारे माध्यम देश और समाज को नयी दिशा और प्रेरणा प्रदान करती है . इतिहास गवाह है की इन माध्यम से कई सामाजिक क्रांति हुई है , कई बदलाव आये हैं समाज में . सिनेमा अभिव्यक्ति का एक सशक्त माध्यम है और इसका असर समाज पर पड़ता ही है क्योंकि देश और समाज को दिशा देने वाली हमारी युवा पीढ़ी सिनेमा का अनुसरण करती है . पिछले दिनों सिनेमाई परदे पर कुछ ऐसी फिल्मो का प्रदर्शन हुआ , जो चर्चा का विषय बनी , ख़ास तौर पर उस फिल्म के निर्माता - निर्देशक की , क्योंकि उनकी फिल्म उनकी छवि के अनुरूप नहीं थी . यहाँ महेश भट्ट का उदहारण लिया जा सकता है , जिन्होंने हमेशा अपनी फिल्मो की पृष्टभूमि में जन आक्रोशवादी नायक को पेश किया जो सिस्टम के खिलाफ आवाज़ उठाता है व गरीबों का मसीहा हुआ करता था . साथ ही उनकी फिल्मो में सामाजिक विसंगतियां होती थी . लेकिन उन्होंने पिछले कुछेक सालो में अपना नजरिया बदल दिया . हाल ही में तो उन्होंने पोर्न स्टार सन्नी लियोन को परदे पर पेश किया . आखिर इसे क्या समझा जाये ? क्या आज सिनेमा का दर्शक बदल गया है ? क्या वह समाज की सच्चाई बताने वाली फिल्मो को नकारता जा रहा है ? या ऐसी फिल्मे मात्र पैसा बटोरने की लालच मात्र है ? सच्चाई जो भी हो यह सोचनीय मुद्दा है . सास बहु से छोटे परदे पर क्रांति लाने वाली एकता कपूर ने भी डर्टी पिक्चर के जरिये विद्या बालन के मांसल देह का भरपूर प्रदर्शन किया और करोडो बटोरे . बहरहाल ये सारे मुद्दे बहस के हैं . बात अगर भोजपुरी फिल्म जगत की की जाए तो यहाँ भी कुछ ऐसा ही है . खबर है की बेटवा बाहुबली जैसी हिट फिल्म से भोजपुरी फिल्म इंडसट्रीज़ में कदम रखने वाली फिल्म निर्माण कंपनी विजसन फिल्म्स भी डर्टी पिक्चर्स की राह पर निकल पड़ी है और अजय दीक्षित को लेकर फूहड़ सनीमा का निर्माण किया है . जिस तरह भट्ट केम्प में इमरान हासमी फिक्स हैं उसी तरह विजसन फिल्म्स में भी अजय दीक्षित फिक्स हैं. फूहड़ सनीमा पूरी तरह से एक मसाला फिल्म है जिसे निर्देशित किया है ब्रज भूषण ने , जिनकी छवि ठीक इसके विपरीत है . ब्रजभूषण भोजपुरी फिल्म जगत के एकमात्र ऐसे निर्देशक है जिन्हें कला व सांस्कृतिक फिल्म के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार मिल चूका है . मद्रास एफ टी आई आई से स्नातक ब्रजभूषण सेंसर बोर्ड में भी अपनी सेवा दे चुके हैं . कहो ना प्यार है , लगान, हम साथ साथ है जैसी बेहतरीन फिल्मो के सेंसर वो कर चुके हैं . यही नहीं उन्होंने भोजपुरी में अब तक जितनी भी फिल्मे बनायीं है वो सामाजिक, पारिवारिक और प्रेम रस में डूबी थी . अब अगर फूहड़ सनीमा का पोस्टर देखें तो साफ़ पता चलता है की फिल्म में फूहड़ता की भरमार है सवाल उठता है क्या लोगो का मूड बदल गया है ? क्या हमारे दर्शक नग्नता पसंद करते हैं ? फूहड़ सनीमा कितनी फूहड़ है इसका पता तो फिल्म के रिलीज़ होने के बाद ही पता चलेगी . यहाँ यह भी जानना जरूरी है की ब्रजभूषण ने विजसन फिल्म्स के सहयोग से किस फूहड़ता की बात की है . विजसन फिल्म्स ने बेटवा बाहुबली जैसी एक्शन फिल्म का निर्माण किया था जहां से भोजपुरी फिल्मो में एक्शन का चलन बढ़ गया और भोजपुरी को एक संतुलित अभिनेता भी मिला. बहरहाल देखना यह होगा की इस प्रोडक्शन की फिल्म फूहड़ सनीमा क्या कीर्तिमान स्थापित करती है . फिल्म के निर्माता विजसन फिल्म व सह निर्माता आर्यन फिल्म एंड म्यूजिक कं . व शीतल इंटरटेनमेंट है . फिल्म में इस बार बहुमुखी अभिनेता अजय दीक्षित के साथ ग्लेमर क्वीन अर्चना सिंह है . बहरहाल फिल्म अगले महीने रिलीज़ होगी . ब्रजभूषण , अजय व पूरी टीम को बधाई . udaybhagat@gmail.com